23 C
New York

झारखंड कैबिनेट ने ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए 1k पेंशन को मंजूरी दी

Published:

यूनिवर्सल पेंशन योजना में ट्रांसजेंडर समुदाय को शामिल करना

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली झारखंड सरकार ने ट्रांसजेंडर समुदाय को सामाजिक सुरक्षा और मुख्यधारा की मान्यता प्रदान करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। कैबिनेट बैठक के दौरान राज्य की सार्वभौमिक पेंशन योजना में ट्रांसजेंडर व्यक्तियों को शामिल करने का निर्णय लिया गया। इस योजना के तहत पात्र ट्रांसजेंडर लाभार्थियों को वित्तीय सहायता के रूप में प्रति माह 1,000 रुपये मिलेंगे।
 

प्रमाणन और पात्रता मानदंड

पेंशन योजना के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए, ट्रांसजेंडर व्यक्तियों को उपायुक्त कार्यालय से एक प्रमाण पत्र प्राप्त करना होगा। जिनकी आयु 18 वर्ष या उससे अधिक है और उनके पास मतदाता पहचान पत्र है, वे इस योजना के लिए पात्र होंगे।
 

पिछड़ा वर्ग श्रेणी में शामिल करना

जो ट्रांसजेंडर किसी भी जाति आरक्षण के अंतर्गत नहीं आते हैं, उन्हें “पिछड़ी श्रेणी -2” के रूप में वर्गीकृत होने का लाभ मिलेगा।
 

पिछड़ा वर्ग श्रेणी में शामिल करना

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने इस बात पर जोर दिया कि इस समावेशी निर्णय से राज्य के प्रत्येक नागरिक को अधिक सम्मान और सम्मान मिलेगा। इस कदम का उद्देश्य ट्रांसजेंडर समुदाय को सशक्त बनाना और उन्हें वह सामाजिक और वित्तीय सहायता प्रदान करना है जिसके वे हकदार हैं।
 

Related articles

Recent articles

spot_img